Followers

Sunday, January 30, 2011

101 सबसे उपयोगी वेबसाइट - 2

जैसा की आने मेरी पिछ्ली पोस्ट मे पढ़ा मे उसी कड़ी को जारी रखते हुए ,कुछ और महत्वपूर्ण वेब साईट के बारे मेलिख रहा हूँ।
जिन्होंने मेरी पिछ्ली पोस्ट नहीं पढ़ी है ,वो उसको यहाँ पढ़े 101 सबसे उपयोगी वेबसाइट - 1

26. sizeasy.com किसी भी उत्पाद के आकर की कल्पना और तुलना .
27. whatfontis.com – image से font का नाम पता करे
28. fontsquirrel.com निजी और वाणिज्यिक इस्तेमाल के लिए मुक्त - font का एक अच्छा संग्रह .
29. regex.info तस्वीर मे छिपा hidden data को देखिये
30. tineye.com – Google Googles का ऑनलाइन संस्करण
31. iwantmyname.com सभी TLDs मे आपका search domains खोजने मे मदद करता है.
32. tabbloid.com आपका मनपसंद ब्लॉग एक PDFs की तरह .
33. join.me अपनी स्क्रीन किसी और से शेयर कीजिये .
34. onlineocr.net PDFs स्कैन या तस्वीरों से " text " पहचानिए .
35. flightstats.com - अपनी flight का status देखिये .
36. wetransfer.com बड़ी फाइल को ऑनलाइन शेयर करने के लिए .
37. pastebin.com आपके text और code snippets के लिए एक अस्थायी ऑनलाइन क्लिपबोर्ड .
38. polishmywriting.com अपनी अग्रेजी सुधारने के लिए .
39. awesomehighlighter.com एक वेब पेज के कुछ महत्वपूर्ण हिस्सों को आसानी से उजागर करे .
40. typewith.me कई लोगों के साथ एक ही दस्तावेज पर एक साथ काम करे .
41. whichdateworks.com योजना बनाने के लिए .
42. everytimezone.com – world time zones का एक आसान view .
43. warrick.cs.odu.edu जब आपका पसंदीदा वेब पेज डिलीट हो जाये
44. gtmetrix.com ऑनलाइन site performance जानने के लिए बेहतरीन tool
45. imo.im - एक ही जगह पर Skype, Facebook, Google Talk, etc.के मित्रो के साथ बाते करे .
46. translate.google.com वेब पृष्ठों का अनुवाद और PDFs , Office documents का अनुवाद एक क्लिकपर
47. youtube.com/leanback – YouTube videos की कभी न ख़तम न होने वाली stream का मज़ा ले .
48. similarsites.com – अपनी मनपसंद
वेबसाइट जैसी नयी वेबसाइट को खोजे
49. wordle.net – tag clouds की मदद से लम्बे सन्देश को छोटा करे या उसका सारांश जाने
50. bubbl.us – mind-maps बनाये , अपने ideas से brainstroming करे

p.s. आगे पढ़े 101 सबसे उपयोगी वेबसाइट - 3

Saturday, January 29, 2011

101 सबसे उपयोगी वेबसाइट - 1

Google,Facebook,Wikipedia यह ऐसे नाम है ,जिन से हम भली भाँती परिचित है ।इसलिए मै अपनी लिस्ट मे ऐसे नाम को शामिल कर रहा हूँ जो की गुमनाम है , लेकिन बहुत उपयोगी है
इन्टरनेट का अधिक उपयोग करने वालो के लिए यह webpages BOOKMARK करने लायक है.
लेखो की प्रथम कड़ी के रूप मे 25 websites के बारे मे लिख रहा हूँ.

01. screenr.com अपने डेस्कटॉप की रिकोर्डिंग को सीधे और यूट्यूब भेजने के लिए
02. bounceapp.com वेब पृष्ठों की पूरी लंबाई के स्क्रीनशॉट लेने के लिए.
03. goo.gl लंबी यू .आर .एल को छोटी यू .आर .एल. में परिवर्तित करने के लिए
04. untiny.me जानिए छोटी यू .आर .एल के पीछे कौन सी यू .आर .एल. छुपी है
05. localti.me अपने शहर के बारे मे जानिए
06. copypastecharacter.com कॉपी कीजिये स्पेशल characters जो आपके keyboard पर नहीं है .
07. topsy.com – twitter के लिए बेहतर सर्च इंजन .
08. fb.me/AppStore सर्च iOS app बिना iTunes के .
09. iconfinder.com सभी साइज़ के icons खोजे .
10. office.com अपने Office documents के लिए Templates, clipart और images डाउनलोड करे .
11. woorank.com एक वेबसाइट के बारे मे सभी कुछ जो आपको जानने की जरूरत है .
12. virustotal.com किसी भी फाइल को virus के लिए scan करे
13. wolframalpha.com बिना सर्च के उत्तर ढूंढे .
14. printwhatyoulike.com अव्यवस्था के बिना वेब पेज प्रिंट करे .
15. joliprint.com किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को अपने समाचार पत्र जैसा रूप दे
16. isnsfw.com जब आप कुछ शेयर करना चाहे
17. e.ggtimer.com दैनिक जरूरतों के लिए एक सरल ऑनलाइन टाइमर

18. coralcdn.org अगर साईट भरी ट्राफिक की वजह से बंद हो तो पहुचने का सरल उपाए .
19. random.org – random संख्या चुने तथा गणित के कुछ रोचक खेल .
20. mywot.com किसी वेबसाइट की विश्वसनीयता परखे

21. viewer.zoho.com – PDFs और Presentations को सीधे अपने इंटरनेट ब्राउजर से खोले .
22. tubemogul.com अपने विडियो को YouTube and और दूसरी साईट पर एक साथ डाले .
23. truveo.com वेब विडियो ढूँढने की बहतरीन जगह .
24. scr.im स्पम्की चिंता किये बिना अपना मेल शेयर करे
25. spypig.com मेल के पढ़े जाने के बाद रसीद प्राप्त करे


p.s. आगे पढ़े : 101 सबसे उपयोगी वेबसाइट -2

101 सबसे उपयोगी वेबसाइट -3



Friday, January 28, 2011

नया शब्द - भौकाल

अब से कुछ समय पहले की बात है । हॉस्टल मे मेरे लिए कुछ नया सा माहौल था । हमारे साथ बहुत से उत्तर भारतीय रहते थे , जो अपने साथ नयी भाषा को खिच लाये थे ।उन्ही से हमने कुछ शब्द सीखे जो मेरे लिए नए है ।
उन्ही मे एक नया शब्द है -भौकाल

ऐसा व्यक्ति जो ऊँची ऊँची बाते करे ,जिसका वास्तविकता से कोई लेनादेना नहीं हो ।
"जब से मंत्री से मिल कर आया है ,राजू भी भौकाल बन गया है ."

स्वयं के बारे मे शेखी बघारने वाला ।
"आ गए भौकाली बाबू अब इनकी भी सुनो"

ब्लोगरो मे भी भौकाल शब्द कई जगह प्रचलन मे है ।
जैसे राजू बिंदास की पोस्ट भौकाली ब्लॉगर
निर्मल-आनन्द की पोस्ट कुलीनता का भौकाल
आजकल की पोस्ट भौकाल की इलाहाबादी दुनिया और सपनों का सच

अब आप ही बताइये कैसी लगी आपको हमारी भौकाली ??

Thursday, January 13, 2011

प्याज की गणित

भूमिका
प्याज की कीमत समाचारों मे है।प्याज की कीमत कई मायनो मे महत्वपूर्ण है.प्याज को आम आदमी से सीधा जोड़कर देखा जा सकता है.इतिहास गवाह है ,की प्याज ने सरकारों को गिरा दिया है।

आज प्याज की कीमत 70 - 80 चल रही है ,जो की सामान्य मूल्य से 800% तक अधिक है.यह अचानक से नहीं हुआ है.इसके पीछे वायदा कारोबार भी एक बड़ा कारण है .

क्या है यह वायदा कारोबार
वायदा कारोबार शेयर बाज़ार की तरह है.यहाँ प्याज(तथा अन्य उत्पाद जैसे दाल ....) की कीमत पर सट्टा लगाया जाता है, और मुनाफे और हर सट्टे पर सरकार को भी फीस भी मिलाती है।
बाजार मे प्याज की भविष्य की कीमतों का अंदाजा लगाया जाता है .जैसी अगर बारिश कम हुई इसलिए उत्पादन कम होगा और भविष्य मे कीमत बढ़ेगी ।

वायदा कारोबार का नुकसान
देखने मे तो सब सही लगता है ,लेकिन ऐसा नहीं है । वायदा कारोबार वाणिज्य का एक जटिल विषय है .
कोई भी निवेशक अगर पैसा लगाता है, तो केवल मुनाफे के लिए !
कई बार भण्डारण करके या अन्य बहुत तरीको से कीमतों को बढाया जाता है, ताकि इस से मुनाफा हो सके ।
इसका एक उदाहरण चीनी की कीमते भी है ।

वायदा और सरकार
कालाबाजारी और कीमतों के साथ खेल पहले भी गैर क़ानूनी रूप से होता था , लेकिन वाजपेयी सरकार के मंत्री शरद यादव ने कानून बना कर इसको वायदा बाज़ार के रूप मे कानूनी बना दिया।
क्योंकि सरकार को इस से फायदा होता है इसलिए सरकार इस को नहीं रोकती है ।

आम आदमी के साथ मजाक
सरकार 35 मे प्याज बेचने का वादा कर रही है , जो की अभी भी 350% अधिक कीमत है.
और हम ये सोचने को मजबूर है की सरकार सस्ते मे बेच रही है,जबकि ऐसा नहीं है .सरकार इस मे भी बड़ा मुनाफा कम रही है ।

किसान को कोई फायदा नहीं है
इस पुरे किस्से की सबसे बुरी बात है ,की किसान को आज भी वोह ही कीमत मिल रही है.इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है की कीमत कौन बड़ा रहा है.